Friday, 8 July 2016

भारत-रूस: एक पुराना दोस्त दो नए दोस्तों से बेहतर

इस बात को 16 साल हो चुके हैं जब मुझे रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन का इंटरव्यू करने का मौका मिला था. वर्ष 2000 में जब मैंने इंडिया टुडे के लिए क्रेमलिन में उनसे बातचीत की थी, उस समय पुतिन हाल ही में राष्ट्रपति बने थे. वे रूस में सबसे ताकतवर पद पर सीधे आसीन हो गए थे और उनके नाम के साथ कोई पिछली उपलब्धि भी नहीं जुड़ी थी, सिवा इसके कि वे केजीबी के पूर्व जासूस रह चुके थे, पार्टी के वफादार थे और जूडो में ब्लैक बेल्ट धारी थे.

No comments:

Post a comment